उत्तर प्रदेश केंद्रीय पत्रकार हेल्प एसोसिएशन उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त के राष्ट्रीय संगठन मंत्री अनीस अंसारी ने पीड़ित पत्रकारों की उठाई आवाज और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर घोर निंदा की है और कहां पत्रकार का उत्पीड़न भाजपा सरकार ने ब्रिटिश शासन काल को भी पीछे छोड़ा

उत्तर प्रदेश

केन्द्रीय पत्रकार हेल्प एसोसिएशन उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त के राष्ट्रीय संगठन मंत्री अनीस अंसारी ने पीड़ित पत्रकारों की उठाई आवाज और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर घोर निंदा की है और कहां

पत्रकार का उत्पीड़़न भाजपा सरकार ने ब्रिटिश शासन काल को भी पीछे छोड़ा।

केन्द्रीय पत्रकार हेल्प एसोसिएशन उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहम्मद इमरान आजमी, राष्ट्रीय संगठन मंत्री अनीस अंसारी ने पीड़ित पत्रकारों की उठाई आवाज और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर घोर निंदा की है और देश मे भाजपा शासन काल आने के बाद से 28 पत्रकारों की हत्या की जिम्मेदारी सरकार पर है ।लगातार पत्रकारों के उत्पीड़न के बाद भी सरकार द्वारा मात्र निंदा ही की गई ना तो कोई ठोस कदम उठाया गया जिसके कारण माफियाओं सहित गुंडों के भी हौसले इतने बढ़ गए कि पत्रकारों की पिटाई व अभद्रता देश में आम बात हो गई। यहां गुंडों का माफियाओं का उदाहरण देना मात्र है ।3 अक्टूबर को दिल्ली प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में एक किताब सालेंसिंग जर्नलिस्ट इन इन्डिया का विमोचन हुआ जिसमें 2000 से लेकर 2018 तक मारे गए पत्रकारों कि व 12 राज्यों में 31 पत्रकारों पर लेख के कारण फर्जी मुकदमों में फंसाया गया की संपूर्ण जानकारी मौजूद है। जब प्रशासनिक अमला मात्र किसी के इशारे पर पत्रकार पर मुकदमा लिखने पर उतर आए तो आमतौर से अवैध कारोबारियों, भ्रष्टाचारियों व माफियाओं के तो पर निकलना आम बात है ।बात उत्तर प्रदेश की करें तो उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार में जितनी बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पत्रकारों के उत्पीड़न रोकने संबंधित भाषण दिए गए उतनी बार पत्रकारों पर मुकदमे दर्ज हुए हद तो तब हो गई जब मुख्यमंत्री की नाक के नीचे राजधानी में ही पत्रकारों का शोषण व उत्पीड़न होता रहा मुख्यमंत्री व आला अधिकारियों तक शिकायतें जाती रहीं मगर किसी मामले की निष्पक्ष जांच तक ना हो सकी ।क्या इसे मुख्यमंत्री की सहमति न समझा जाए ।पत्रकार पीटते रहे मुख्यमंत्री की गोद में बैठे पत्रकारों के जिम्मेदार व अधिकारी मौन रहे शासन व प्रशासन की मिलीभगत से भ्रष्ट कर्मचारी व अधिकारी निरंतर पत्रकारों को फर्जी मुकदमे से प्रताड़ित करते रहे ।आखिरकार छोटे पत्रकारों से बढ़कर मामला चैनलों और बड़े बड़ों तक पहुंच जब प्रदेश के नामचीन लोकप्रिय चैनल भारत समाचार व दैनिक भास्कर के यहां ईडी का छापा पड़ा तब तो मन में 2022 चुनाव से पूर्व सवाल उठने लगे कि अगर यह भ्रष्ट थे तो अब तक कोई कानूनी कार्रवाई क्यों नहीं देखने को मिली ।यह खबर उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में चर्चा का विषय बन गई सभी की टिप्पणी आना शुरू हुई परंतु मुख्यमंत्री की गोद में बैठे पत्रकारों के ठेकेदारो की जुबान पर अब भी ताला लगा हुआ है। पत्रकारिता की ऐसी भयावह स्थिति में वर्ल्ड मीडिया ऑर्गेनाइजेशन ट्रस्ट के चेयरमैन ओपी मिश्रा ने कहा हमने आज तक इस प्रकार निष्पक्ष पत्रकारिता का गला घोटने वाली सरकार नहीं देखी ।जहां ना तो कोई पीड़ित की बात सुनने वाला है ना कोई जांच एजेंसी बस जिस अधिकारी से चाहो कार्रवाई करवा लो ।संवादाता से चर्चा के दौरान ओपी मिश्रा ने कहा जिस प्रकार आजादी से पूर्व अंग्रेजो के खिलाफ लाल रुमाल नामक तहरीर चलाकर पत्रकारों ने क्रांति की लहर चलाई फिर ब्रिटिश शासन ने पत्रकारिता को दबाने के लिए नए नए कानून बनाएं और सैकड़ों पत्रकारों को मौत की सजा व सैकड़ों को जेल में डाला इसी प्रकार भाजपा शासनकाल में पत्रकार उत्पीड़न में ब्रिटिश शासन काल को भी पीछे छोड़ दिया। जब ऐसी भयावह स्थिति में पत्रकारों के शासनिक दुलारे व संस्थाएं पत्रकारों की समस्याओं पर संघर्ष करने से पीछे हट रही हैं ।तो ऐसे में साझा मंच या पत्रकारों की आत्मनिर्भरता ही निष्पक्ष पत्रकारिता को बचा सकती है। मैं स्वयं भारत के समस्त पत्रकार संस्थाओं को साझा मंच निर्माण का न्योता देता हूं। हम साथ मिलकर पत्रकारों की समस्याओं पर संघर्ष करेंगे जब तक पत्रकारों के बीच से छोटे ,बड़े बैनर व छोटे ,बड़े पत्रकार का भेदभाव समाप्त नहीं होगा पत्रकार ऐसे ही प्रताड़ित होते रहेंगे। हमारा ट्रस्ट जल्द ही एक सभा कर पत्रकार उत्पीड़न पर चर्चा कर आगे की योजना बनाएगा ।जिसमें सभी पत्रकारों ,संपादकों वा संस्थाओं का स्वागत है ।इसके साथ साथ हम सामूहिक रूप से देश में कार्यरत सर्वोच्च संवैधानिक संस्थाओं से अनुरोध करेंगे कि वह आगे आकर संविधान के चौथे स्तंभ मीडिया को उचित स्थान व सम्मान दिलाने में सहयोग करें।

केन्द्रीय पत्रकार हेल्प एसोसिएशन उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त के राष्ट्रीय संगठन मंत्री अनीस अंसारी उत्तर प्रदेश जय हिंद जय भारत पत्रकार एकता जिंदाबाद उच्च न्यायालय एडवोकेट जिंदाबाद शिक्षा प्रदान करने वाले शिक्षक जिंदाबाद वरिष्ठ डॉक्टर एकता जिंदाबाद केन्द्रीय पत्रकार हेल्प एसोसिएशन जिंदाबाद

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275