यास साइक्लोन 27 से 30 मई तक बिहार में दिखेगा असर, आंधी-पानी के साथ ठनका गिरने के आसार

यास साइक्लोन 27 से 30 मई तक बिहार में दिखेगा असर, आंधी-पानी के साथ ठनका गिरने के आसार

रिपोर्ट
परमानन्द पाण्डेय

बड़हरिया सिवान

यास का बिहार पर असर को लेकर बिहार सरकार हुई अलर्ट।
यास चक्रवाती तूफान अब स्टोर्म में तब्दील हो चुका है़। सुपर सायक्लोन यास तेज चक्रवाती हवा के साथ 27 मई को बिहार में दस्तक दे सकता है़ जो 30 मई तक पूरे बिहार में मध्यम से भारी बारिश, मेघ गर्जन के साथ ठनका गिरने के आसार हैं । आपदा विभाग और आइएमडी पटना ने राज्य के लोगों और सरकारी मशीनरी को सतर्क कर दिया है़।
आइएमडी पटना ने स्प्ष्ट कर दिया कि तेज आंधी की वजह से बिजली आपूर्ति, हवाई मार्ग, रेल और सड़क यातायात बाधित हो सकती है ।
सड़को पर छोटे बड़े
पेड़ गिर सकते हैं।
भारी और अति भारी बारिश के चलते जल जमाव यहां तक की निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति भी बन सकती है ।उस समय सरकारी मशीनरी को भी सचेत रहना होगा ।
इस दौरान बादल काफी नीचे से गुजरेंगे, इसलिए दृश्यता भी प्रभावि हो सकती है़ । विशेष रूप से 27 और 28 मई को पूरे बिहार प्रदेश में सबसे ज्यादा ठनका गिरने की आशंका मौसम विभाग के द्वारा व्यक्त की गयी है़ । तूफान का सबसे ज्यादा असर गया, नवादा, औरंगाबाद, सासाराम, बांका, भागलपुर, शेखपुरा आदि जगहों पर पड़ने के काफी आसार है। इस दौरान समूचे बिहार में हवा की रफ्तार चालीस से साठ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी।
डॉ राजेद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक डॉ ए सत्तार के अनुसार यास काफी ताकतवर चक्रवती तूफान है़ । इसकी ताकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जहां से टकरायेगा, वहां से सात सौ किलोमीटर तक के इलाकों को सीधे प्रभावित करेगा । आंधी-पानी, ठनका आदि की तीव्रता बेहद खतरनाक होगी। हालांकि, इस तूफान से बिहार को फायदे और नुकसान दोनों होंगे ।
ओड़िशा-बंगाल के तटों से यास गुजरेगा।
बंगाल की खाड़ी पर बना गहरे दबाव का क्षेत्र चक्रवाती तूफान ‘यास’ में बदल गया है ।
इस सबन्ध में पूछे जाने पर बीडीओ अशोक कुमार ने बताया कि यास तूफान को लेकर बिहार सरकार और जिला प्रशासन काफी सतर्क है । बीडीओ ने कहा कि लोगो को यास तूफान में अपनी सुरक्षा स्वयं करनी चाहिये । प्रशासन यास तूफान को लेकर बिहार सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार काफी एलर्ट है । बीडीओ ने कहा कि लोगो को यास तूफान के समय जर्जर घरों में नही रहना चाहिये । साथ ही वृक्ष के पास नही खड़ा होना चाहिये । बीडीओ ने प्रखण्डवासियो से अपील किया को कोरोना काल मे लगे लॉक डाउन के नियमो के तरह यास तूफान से बचने के लिये सुरक्षित स्थान पर रहे और यास तूफान के समय अपने अपने घरों में अथवा सुरक्षित स्थानों पर रहे । बीडीओ ने कहा कि आपदा विभाग यास तूफान को लेकर काफी एलर्ट है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275