मुजफ्फरनगर के दबंग एसएसपी अभिषेक यादव के सिर का दर्द बना सट्टा कारोबार

मुजफ्फरनगर के दबंग एसएसपी अभिषेक यादव के सिर का दर्द बना सट्टा कारोबार

मुजफ्फरनगर। जनपद के एसएसपी अभिषेक यादव तेजतर्रार दबंग तेवर से बदमाशों से गुनाहों की तोबा करवाने वाले जनपद के लोकप्रिय एसएसपी अभिषेक यादव को मुजफ्फरनगर के दबंग एसएसपी के नाम से भी जाना जाता है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री की शपथ ग्रहण करते ही एक जनसभा में कहा था बदमाश उत्तर प्रदेश छोड़ दे, या फिर जेल में जाने को तैयार हो जाए। जनपद की कमान एसएसपी अभिषेक यादव ने संभालते ही सीएम योगी के मंसूबों को पूरा करने के लिए अपराधियों पर दबा तोड़ दबिश देकर कार्यवाही करते हुए गौ तस्कर, बदमाशों को लंगड़ा कर जेल भेजा। अपराधी किस्म के लोग की मुजफ्फरनगर के दबंग एसएसपी अभिषेक यादव के नाम से रूह तक कांप जाती है। एसएसपी ने दर्जनों गौ तस्करों को मुठभेड़ कर टांग में गोली मारकर जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाने का काम किया है। अपने गुड वर्क को लेकर पूरे उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के दबंग एसएसपी अभिषेक यादव सुर्खियां बटोर रहे हैं। लेकिन एसएसपी अभिषेक यादव के लिए सट्टा कारोबारी सिर का दर्द बन गए हैं। एसएसपी अभिषेक यादव के तेजतर्रार तेवर भी सट्टा कारोबारियों के सामने फेल नजर आ रहे हैं। ऐसा लगता है कि सट्टा कारोबारियों के दिल में एसएसपी अभिषेक यादव का डर नहीं है। सट्टा कारोबारी मुजफ्फरनगर के दबंग एसएसपी अभिषेक यादव को खुली चुनौती देकर खुलेआम सट्टे का कारोबार कर रहे हैं। शहर कोतवाली क्षेत्र के रामलीला टिल्ला पुलिस चौकी के अंतर्गत आने वाले गांव न्याजूपुरा, मिमलाना रोड, शाहबुद्दीनपुर रोड, लद्धावाला तथा खालापार पुलिस चौकी क्षेत्र व किदवई नगर पुलिस चौकी क्षेत्र में खाईबाड़ी का गढ़ बन गए। इससे अनेको घर बर्बादी के कगार पर पहुंच गए है। पुलिस की कार्यवाही न होने से सट्टा माफियाओ के हौसले बुलंद है। शाम होते ये लोग सकिरये हो जाते है। लॉक डाउन के दौरान सट्टा कारोबारियों की पौबारह हो गयी है। शहर कोतवाली क्षेत्र में सट्टे का कारोबार बड़ी तेजी फलफूल रहा है। बड़ी संख्या में इस अवैध कारोबार से लोग जुड़े है। शाम होते सट्टे से जुड़े लोग घरों से बाहर निकलते है। और एक दूसरे से नंबर पूछते भी देखे जा सकते है। इस कारोबार से कई घर बर्बाद हो चुके है ओर अनेक ऐसे है जिनके घरो में खाने के भी लाले पड़े है। सट्टा माफिया धन अर्जित कर रहे है। पुलिस इस से आंख मूंदे बैठी है क्षेत्र में चर्चा कि पुलिस भी इन पर कोई कार्यवाही नही करती है। चर्चा में आने पर पुलिस सख्त जरूर होती है लेकिन कुछ दिन बाद ही मामला शांत हो जाता है। इस समय न्याज़ुपुरा, मिमलाना रोड व खालापार के कई नाम बड़े सट्टा माफियाओ के लिए चर्चित है। जो फोन पर ही सट्टे के कारोबार को अंजाम दे रहे है। जिनकी जानकारी स्थानीय पुलिस को भी है। सूत्र बताते हैं कि सट्टा कारोबारी चौकी इंचार्ज की सांठगांठ से सट्टे का कारोबार चला रहे हैं। अब यह देखना होगा कि जनपद मुजफ्फरनगर के लोकप्रिय एसएसपी अभिषेक यादव चौकी इंचार्ज पर भी कार्यवाही करते हैं? जनता की खून पसीने की कमाई को बचाने के लिए अवैध कारोबार को बंद करा पाएंगे?

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275