मानवता का मिशाल संजीव ने ब्लड देकर बचाया महिला का जान

मानवता का मिशाल संजीव ने ब्लड देकर बचाया महिला का जान

 


फ़ोटो- बड़हरिया का संजीव अपना ब्लड को देता

रिपोर्ट

परमानन्द पाण्डेय
बड़हरिया सिवान

बड़हरिया प्रखण्ड में कोरोना महामारी में एक तरफ लोग अपना जीवन बचाने के लिए खुद को घर से निकलना मुनासिब नहीं समझ रहे है। कुछ तो गरीब और जरूरतमंद को समान मुहैया करा कर सेवा कर रहे है तो कुछ लोग अपने जीवन को जान जोखिम में डालकर दूसरे का जीवन बचाने में लगे है। इस कोरोना काल मे और भीषण महामारी में बड़हरिया निवासी सह सामाजिक कार्यकर्ता संजीव कुमार ने अपनी ब्लड को देकर प्रखंड के ज्ञानी मोड़ की 25 वर्षीय महिला का एक नया जीवन देकर मानवता का मिशाल पेश किया है। इसके पहले भी सामाजिक कार्यकर्ता विकास यादव के नेतृत्व में वीपी ब्लड डोनर टीम बड़हरिया के सदस्यों जिसमे संजीव भी शामिल है जो कई जगह पर जाकर अनेकों लोगो को ब्लड दान कर अनेको मरीजों की जान बचाई है। संजीव इसके पहले भी गोरखपुर, जामो बाजार, सुरवालिया, लकड़ी, दीनदयालपुर, ज्ञानी मोड़, रेवती, गोपालगंज, पटना, जीरादेई, तेतहली, सहित कई गावों के जरूरतमंदों को ब्लड देकर जाना बचाया है। इधर संजीव कुमार ने बताया की फेसबुक के माध्यम से वीपी ब्लड डोनर टीम बड़हरिया के माध्यम से सीवान के किसी निजी क्लिनिक में एक 25 वर्षीय महिला को जीवन को बचाने के लिए ब्लड की मांग की गई थी । फेसबुक पर पढ़कर उसी आधार पर सिवान जा कर ब्लड देकर मरीज मिला कि जान बचाया। संजीव ने बताया कि ब्लड को देकर मुझे काफी खुशी महसूस हो रही है। अगर जरूरत पड़ी तो मैं हर माह अपना ब्लड का डुनेट करूंगा। इस संबंध में संजीव कुमार ने बताया की कोरोना काल मे ब्लड देकर किसी का जान बचना बहुत बड़ी नेकी है जो दुनिया की सबसे बड़ी नेकी है । मानवता के नाम पर हम सभी को इस नेक काम मे आगे आकर किसी जरूरतमंद की जीवन बचाने में मदद करनी चाहिए।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275