शेरे कोरिगवा के पूर्व मुखिया सह मुखिया पति की हार्ट एटैक से हुई मौत

शेरे कोरिगवा के पूर्व मुखिया सह मुखिया पति की हार्ट एटैक से हुई मौत

मृत मुखिया पति जनार्दन प्रसाद सेठी की मौत की खबर सुन प्रखण्डवासी हो गये सन्न

मुखिया के शव दर्शन के लिये उमड़ा जन सैला

मुखिया के अंतिम संस्कार जाती बंधन टूटा, सभी धर्मों के लोग हुये शामिल

रिपोर्ट

परमानन्द पाण्डेय

बड़हरिया सिवान

बड़हरिया प्रखण्ड के कोइरिगवा गांव निवासी सह कोरिगवा पंचायत के पूर्व मुखिया सह वर्तमान मुखिया राजकली देवी के पति शेरे कोरिगवा जनार्दन प्रसाद सेठी की मौत गत शनिवार की रात करीब 2 बजे के लगभग हार्ट एटैक होने से गयी । मुखिया जनार्दन प्रसाद सेठी की मौत की खबर जंगल की आग की तरह फैल गयी । मुखिया सेठी के शुभचिंतक और पंचायत और ग्रामीण जो जहाँ था वदवास होकर मुखिया के घर पर अंतिम दर्शन के लिये दौड़ पड़ा । शव को देखने के लिये रात से लेकर अंतिम संस्कार तक और श्मशान घाट तक लोगो की हुजूम लगी रही । मुखिया जनार्दन प्रसाद सेठी के अंतिम संस्कार में सभी धर्मों के बुद्धिजीवी लोग शामिल हुये । जनार्दन प्रसाद सेठी के अंतिम संस्कार में जाति बंधन टूट गया है । सभी धर्मों के लोग आपसी भाईचारा का मिशाल पेश करते हुये अपने चहेते मुख्यय जनार्दन प्रसाद सेठी को अंतिम विदाई देते हुये ईश्वर अल्लाह से मुखिया जी की आत्मा को शांति प्रदान करने की प्रार्थना किये ।
मुख्यय जनार्दन प्रसाद सेठी की छवि स्वच्छ और गंगा जल की तरह निर्मल पवित्र था । मुखिया मृदभाषी और कुशल व्यवहार के धनी थे । मुखिया जनार्दन प्रसाद सेठी राजनीतक के चाणक्य और कुशल राजनीतिज्ञ थे । मुखिया जनार्दन प्रसाद सेठी को शेरे कोरिगवा और भीष्म पितामह की उपाधि से दिग्गज नेताओं और पदाधिकारियों द्वारा कई मौके पर नवाजा जा चुका है । मुखिया जी की अपने पंचायत और गांव की जनता पर काफी पकड़ थी । सभी लोग मुखिया जी का सम्मान और आदर करते थे । मुखिया जी भी अपने जनता से काफी प्यार करते थे । मुखिया जी की कार्यशैली से पंचायत की जनता काफी प्रभावित थी । मुखिया जी की मौत के बाद सैकड़ो परिवार रो रहा था ।
मुखिया जनार्दन प्रसाद सेठी जी के पुत्र बाल्मीकि प्रसाद ने बताया कि गत शनिवार की रात में गांव में आयोजित समारोह में से भोजन करके घर सोने के लिये आये । कुछ देर के बाद मुखिया जी बताये की सीन में जलन हो रहा है । मुखिया जी के कहने पर प्राथमिकी उपचार के लिये बड़हरिया चिकित्सक के यहां ले जय गया । सब कुछ निर्मल था । लेकिन अचानक मुखिया जी को दांत लगने लगा और कुछ डॉक्टर अथवा परिजन समझते तब तक मुखिया जी की हृदय गति रुक गयी जिससे उनकी मौत शनिवार की रात 2 बजे के लगभग हो गयी ।
मुखिया जनार्दन प्रसाद सेठी के शव को दर्शन करने आये लोगो को परिजनों रोते देख बरबस लोगो के आंखों से आसूं छलक पड़ते थे । सभी लोगो ने परिजनों को सांत्वना प्रदान कर रहे थे ।
मुखिया जनार्दन प्रसाद सेठी के अंतिम दर्शन और संस्कार में राम जानकी मठ के मठाधीश श्री भगवान दास जी महाराज पूर्व मुखिया अली इमाम खान जमा खान मुखिया शांति देवी के पति सह पूर्व उप प्रमुख जीव नारायण यादव प्रमुख पति सह भाजपा नेता प्रदीप सिंह मुखिया वीरेंद्र यादव सुनील कुमार चंदेल वीरेंद्र प्रसाद प्रेम प्रकाश सोनी डॉ सचितानन्द गिरी डॉ अनिल गिरी राजबल्लभ गिरी रिंकु तिवारी अनुरंजन मिश्रा अनिकेत तिवारी राज किशोर साह सरपंच झगरू चौधरी हाजी नूर आलम अंसारी जिला पार्षद जुल्फेकार अहमद उर्फ मिठू बाबू अमीरुल्लाह सैफी ऐनुल सैफी जमाल सैफी कमल अहमद अंसारी मुजफ्फर हुसैन अंसारी फैजान अहमद अंसारी एकबाल अहमद अंसारी ओजैर अहमद जाहिद अली अकरुजमा मो ऐहताशमूल हक अनवारुल्लाह सिद्दीकी जावेद अहमद नन्हे अहमद परमात्मा पाण्डेय बाबूलाल प्रसाद मानोज कुशवाहा सुशील प्रसाद कुशवाहा संजय साह विजय साह अजय साह ओसिहर प्रसाद बच्चा राम कमलेश प्रसाद भारती सिंह मिथुन कुमार सिंह भरत सिंह दीपेश शर्मा जितेंद्र यादव सचितानन्द यादव प्रो महमूद हसन अंसारी पप्पू गिरी संजय गिरी डॉ विंध्याचल यादव सहित सैकड़ों लोग शामिल थे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275