शामली जिला कांग्रेस कमेटी ने उठाया कैराना के ऐतिहासिक नवाब तालाब का मुद्दा

शामली जिला कांग्रेस कमेटी ने उठाया कैराना के ऐतिहासिक नवाब तालाब का मुद्दा

 

– ऐतिहासिक धरोहर के अस्तित्व पर मंडरा रहा खतरा- शामली जिला कांग्रेस कमेटी ने उठाया यह मुद्दासौंदर्यीकरण की मांग को लेकर

कैराना। मुगल दौर के सम्राट जहांगीर का बनवाया नवाब तालाब बदहाली पर आंसू बहा रहा है। तालाब में पसरी गंदगी और दिनोंदिन बेतहाशा अवैध कब्जों से इस ऐतिहासिक धरोहर के अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा है। तालाब हुक्मरानों की अनदेखी का शिकार है।
इतिहास के पन्ने पलटने पर कई ऐसी धरोहरे मिलती हैं, जिनके निर्माण की आज कल्पना भी नहीं की जा सकती। कैराना में भी ऐसा ही ऐतिहासिक नवाब तालाब है। दरअसल, मुगल दौर के बादशाह जहांगीर ने पानीपत-खटीमा राजमार्ग से करीब 200 मीटर की दूरी पर इस तालाब स्थापित कराया था। इसका क्षेत्रफल लगभग 140 बीघा का बताया जाता है। तालाब का सीधा ताल्लुक यमुना नदी से हुआ करता था। जहां से तालाब के अंदर यमुना का शुद्ध पानी आता था। हकीम नवाब अली मुकर्रब खां ने तालाब का निर्माण शिष्य दैत्यों द्वारा कराया था। तालाब किनारे भव्य बाग और कुएं भी थे। तालाब के बीचों-बीच ‘सुफ्फा-ए-माहताबी’ नामी 22 गज का चबूतरा भी बनवाया गया था, जो आज पानी में विलुप्त हो गया है।

दीपक सैनी कांग्रेस जिला अध्यक्ष ने बताया
एक समय था जब नवाब तालाब आकर्षण का केंद्र बना रहता था। इसकी खूबसूरती निहारने के लिए यहां दूर-दराज से लोगों का जत्था पहुंचता था, लेकिन मुगल सल्तनत के दौर की यह ऐतिहासिक धरोहर अब गंदा नाला बन चुकी है। सरकारों की उपेक्षा के चलते तालाब गंदगी से अटा पड़ा है। तालाब में बेरोकटोक खूब गंदगी डाली जा रही है। तालाब का पानी भी काला पड़ गया है। बदबू से तालाब के पास खड़ा होना भी दुश्वार हो गया है। फिलहाल तालाब हुक्मरानों की अनदेखी का शिकार है।

कब्जों से सिकुड़ रहा तालाब का क्षेत्रफल
नवाब तालाब पर दिनोंदिन कब्जे बढ़ते जा रहे हैं। आलम यह है कि कब्जाधारी निरंतर तालाब की जमीन दबा रहे हैं। कब्जा करने का तरीका भी कुछ ऐसा है कि पहले तो तालाब की भूमि पर धीरे-धीरे मिट्टी डाली जाती है और फिर उस पर कब्जा जमा लिया जाता है। अवैध कब्जों के चलते तालाब का क्षेत्रफल सिकुड़ रहा है। ऐसे में तालाब का अस्तित्व खतरे में नजर आता है।

डाॅ मुन्हवर पवार कांग्रेस ब्लाक अध्यक्ष केराना ने बताया की
शामली जिला कांग्रेस कमेटी सौंदर्यीकरण
पिछले दिनों ने प्राक्कलन समिति की बैठक के दौरान ऐतिहासिक नवाब तालाब के सौंदर्यीकरण कराये जाने का मुद्दा उठाया था, जिसके बाद नगरपालिका और लोक निर्माण विभाग की टीम ने तालाब पर पहुंचकर निरीक्षण किया था। इसी नवाब तालाब के सौंदर्यीकरण की आस जगी है। देखना यही होगा कि इस ऐतिहासिक धरोहर के दिन कब बहुरेंगे।
———–
नवाब तलब की भूमि पर भूमाफियाओं की नज़र
मोहल्ला अफगनान में स्थित नवाब तालाब का इतिहास काफी लम्बा है। यह ऐतिहासिक धरोहर है। पश्चिम दिशा में बना नवाब महल आकर्षण का केंद्र रहा है,जो आज अपनी बेबसी पर आंसू बहा रहा है। इस महल पर भी पूरी तहर से क़ब्जा हो चुका है और रिहाइश भी हो रही है। पूरब व उत्तर दिशा में भूमाफियाओं ने धीरे धीरे अपने क़ब्ज़े जमाने शुरू कर दिए है,कहीं कूड़ा डालकर तो कहीं उपले डालकर अवैध क़ब्ज़े जमाये जा रहे हैं,लेकिन इन अवैध कब्जाधारियों पर नकेल कसने वाला कोई दिखाई नही दे रहा है। सरकार द्वारा गठित एंटी भूमाफिया टीम भी दूर दूर तक नज़र नही आ रही है। ऐसे में नवाब तालाब का अस्तित्व बच पाना मुश्किल हो गया है। अगर जल्द ही इस और ध्यान नही दिया गया तो अवैध कब्ज़ों की जड़ें और गहरी होती चली जाएंगी।
————-
जागरूक नागरिकों ने उठाई आवाज़
ऐतिहासिक नवाब तालाब की धरोहर को बचाने के लिए जागरूक नागरिकों ने पहले की है। अलमास कैराना लाइब्रेरीक़े डायरेक्टर व लेखक रियासत अली ताबिश ने भारत की आज़ादी की टीम को बताया कि नवाब तालाब की भूमि पर अवैध क़ब्ज़े जिस प्रकार तेज़ी से बढ़ रहे हैं। उससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि आने वाले दिनों में तालाब का अस्तित्व ही खत्म हो जाएगा। उन्होंने बताया कि तालाब के चारों ओर लगभग 20 फुट की पटरी के लिए जो भूमि छोड़ी गई थी उस पर पूरी तरह से क़ब्ज़ा हो चुका है। उनका कहना है कि पटरी के लिए छोड़ी गई 20 फुट भूमि आज भी शिजरे में मौजूद है,लेकिन मौके पर नही है।चारों ओर कूड़ा डालकर तालाब को कब्जाने का प्रयास किया जा रहा है। समाजसेवी नवाब अली बागबान कहते हैं कि कई बार स्थानीय प्रशासन को लिखित शिकायत की जा चुकी है,लेकिन कार्यवाही होती नजर नही आती, जिस कारण भूमाफियाओं के हौसले बुलंद हो रहे हैं और तालाब की भूमि कम होती जा रही है।
शामली जिला कांग्रेस कमेटी की टीम ने ऐतिहासिक नवाब पर जाकर देखा हाल जिसमे । दीपक सैनी कांग्रेस जिला अध्यक्ष
अब्दुल हाफिज जिला उपाध्यक्ष
प्रवीण तरार जिला उपाध्यक्ष
डाॅ मुन्हवर पवार कांग्रेस ब्लाक अध्यक्ष
धमेन्द काम्बोज जिला अध्यक्ष सेवादल
धीरज उपाध्याय प्रदेश सचिव
शमशीर खान कैराना शहर अध्यक्ष
राशिद चोधरी जिला सचिव
सलमान राणा युवा कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष
इन्तजार जिला महासचिव
अश्वनी शमाॅ नगर उपाध्यक्ष
राहुल शमाॅ वरिष्ठ कांग्रेस
आदि लोग शामिल हुए

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275