थाना भवन की बेटी ने एमबीबीएस में टॉपर बन। किया थाना भवन का नाम रोशन- महिला दिवस पर किया गया सम्मानित*

*थाना भवन की बेटी ने एमबीबीएस में टॉपर बन। किया थाना भवन का नाम रोशन- महिला दिवस पर किया गया सम्मानित*

थाना भवन/जनपद शामली उत्तर प्रदेश :-

बी.आर. अम्बेडकर यूनिवर्सिटी (एफ. एच. मेडिकल कॉलेज) आगरा की एमबीबीएस की टॉपर रहीं थाना भवन की होनहार बेटी छात्रा रमशा अज़ीज़ ने एक कीर्तिमान रचा है। उन्हें आज 08 मार्च महिला दिवस के अवसर पर नगर पंचायत थाना भवन में होने वाले सम्मान समारोह में सम्मान प्रतीक देकर सम्मानित किया गया।

संभवत: कस्बे के लिए यह गौरव की बात हैं। कि बेटी डॉक्टर रमशा अज़ीज़ ने डॉ. अम्बेडकर यूनिवर्सिटी से जुड़े तीनो कॉलेजो में हाइजेस्ट मार्क्स लाकर टॉपर का खिताब हासिल किया हैं। आज महिला दिवस पर डॉक्टर रमशा अज़ीज़ महिलाओं के लिए प्रेरणा श्रोत रही हैं। अपने विचार रखते हुए डॉक्टर रमशा ने कहा कि मेरी सफलता में गुरुजनो के साथ-साथ मेरी माता का अहम योगदान हैं। उन्होंने हमेशा आगे बढ़ने के लिए मेरा हौसला बढ़ाया हैं। यही कारण हैं। कि मैंने बिना किसी टेन्सन के सदैव एक्टिव रहते हुए नियमित पढ़ाई की। क्योंकि कार्य जब मिशन बन जाये तो शौर्य और प्रतिभा की मिशाल बनते हुए देर नही लगती बस ज़रूरत हैं जूनून की।

*डॉक्टर रमशा अज़ीज़ ने एफ. एच. मेडिकल कॉलेज (आगरा) से एमबीबीएस किया हैं।*

आज महिला दिवस पर अधिशासी अधिकारी मेघा गुप्ता व चौधरी अतर सिंह से श्रीमती नीरज सैनी जी और थाना भवन की चेयरमैन रफत परवीन ने डॉक्टर रमशा अज़ीज़ को सम्मान प्रतीक देकर सम्मानित किया साथ ही साथ थाना भवन की अन्य होनहार व मेधावी छात्राओ को भी सम्मानित किया गया।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि डॉ. रमशा अज़ीज़ के पिता पूर्व चेयरमैन इन्तज़ार अज़ीज़ और मां वर्तमान थाना भवन चेयरमैन रफत परवीन हैं। उनकी होनहार बेटी आगरा में रहकर एफ.एच. मेडिकल कॉलेज से पढ़ाई कर रही थी। खास बात यह है कि डॉ. रमशा को हर विषय में अच्छे अंक मिले हैं। न केवल वह अपनी यूनिवर्सिटी की ओवरऑल टॉपर रहीं, बल्कि उसी यूनिवर्सिटी से जुड़े तीनो ही कॉलेजों की ओवरऑल टॉपर रहीं हैं।

*डॉ. रमशा अज़ीज़ पूर्व में भी अपने कॉलेज में हो चुकी हैं सम्मानित। लेकिन कोरोना वायरस के चलते अभी कॉलेज में कोई फंक्शन ना होने के कारण उन्हें गोल्डमेडल नही मिल सका हैं। लेकिन जल्दी ही सामान्य स्तिथि होते ही उन्हें गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया जायेगा।*

*ऐसे बनीं टॉपर* :- हर विषय की प्लानिंग के साथ बिना गैप की पढ़ाई
डॉक्टर ने अपने सम्बोधन में कहा कि उन्होंने नियमित पढ़ाई की। कभी गैप नहीं किया। हर विषय की प्लानिंग उसके महत्व के हिसाब से की और उतना ही समय उस विषय को दिया जितनी उसे ज़रूरत थी। उसी का नतीजा रहा कि वह टॉपर बनी । बचपन का सपना था, एमबीबीएस कर डॉक्टर बनूं । वह सपना पूरा हो गया। और मैं चाहती हूं। कि हर लड़की का सपना पूरा हो। बस शर्त हैं। कि कोई भी मां-बाप अपनी बेटी को आगे बढ़ने से ना रोके।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275