स्टाफ नर्स पर गर्भवती ने लगाया बदसलूकी का आरोप

स्टाफ नर्स पर गर्भवती ने लगाया बदसलूकी का आरोप

-प्रसव कराने आई महिला को जबरन किया रेफर

-कहा 15 दिन बाद होगा प्रसव

फ़ोटो-सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खमरिया

 

 

खमरिया-खीरी (एसएनबी)
ग्रामीण अंचलों की स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर बनाने के लिए केंद्र सरकार भले ही प्रयासरत हो लेकिन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खमरिया का बुरा हाल है।यहाँ स्थिति यह है कि अस्पताल में सुरक्षित प्रसव कराने के लिए आने वाली गर्भवती महिलाओं के साथ स्टाफ नर्स ना कि बदसलूकी करती हैं बल्कि पैसे न देने पर साधारण प्रसव होने वाली महिलाओं को रेफर भी कर रही है। लापरवाह सिस्टम से हारे मरीज दर दर की ठोकरे खाने को विवश है।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खमरिया में जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत अस्पताल में संविदा पर तैनात स्टॉप नर्स अपने आपको सत्तापक्ष के एक बड़े नेता की करीबी बताकर आम नागरिकों को लूटने का काम कर रही है। यहां तक बगैर पैसे लिए प्रसूताओं को हाथ तक नहीं लगाती अगर इसका कोई विरोध करता है तो उसे रेफर की धमकी दी जा रही है। ऐसा ही एक मामला शनिवार को देखने को मिला है। जहाँ ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्स ने गर्भवती को महज इसलिए अस्पताल से भगा दिया गया कि उसने परिवारीजनों ने प्रभारी चिकित्साधिकारी को फोन कर दिया। खमरिया कस्बे की आराधना शनिवार को प्रसव पीड़ा से बेहाल थी। वह अपना प्रसव कराने अस्पताल पहुचीं।लेकिन स्टाफ नर्स गायब थी।तभी मरीज के परिजनों ने अधीक्षक से फोन करके गर्भवती को उचित उपचार दिलाए जाने की बात कही।करीब एक घंटे बाद लेबर रूम में पहुचीं स्टाफ नर्स का गर्भवती महिला को देखकर पारा गर्म हो गया। उसने बेहाल महिला को अस्पताल से सिफारिश लगाने का आरोप लगा कर अस्पताल से यह कहकर भगा दिया कि प्रसव करीब 15 दिन बाद होगा।जबकि असहनीय पीड़ा से बेहाल गर्भवती मजबूर होकर मुख्यालय आकर भर्ती हुई तो जिले के चिकित्सकों ने आनन फानन में भर्ती करके सुरक्षित प्रसव करा दिया। यही नही उक्त संविदा स्टाफ नर्स ने अपने इसी व्यवहार के चलते कुछ दिन पूर्व समैसा निवासी संतोष कुमार की पत्नी एम्बुलेंस से प्रसव कराने स्वास्थ्य केन्द्र पर आ रही थी की रास्ते में एम्बुलेंस में ही उसकी डिलीवरी हो गई हॉस्पिटल आने पर तत्काल जच्चा बच्चा को इलाज करने की जगह पैसों की बात करती रही जिसके चलते कुछ ही घंटों में शिशु की मौत हो गई थी। जबकि गंभीर उसकी पत्नी के इलाज में भी वसूली करके ही उसका उपचार किया। फिलहाल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खमरिया स्टाफ नर्सो की वसूली का शिकार है।
इस बाबत खमरिया सीएचसी अधीक्षक डॉ.बीके स्नेही ने बताया कि मामले की जानकारी नही है शनिवार सुबह रजनी की ड्यूटी थी। मरीज द्वारा लगाए गए आरोपों को लेकर स्टाफ नर्स से पूंछतांछ करके कार्रवाई की जाएगी।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275