दस वर्षो से विक्लाग की जिदगी जी रहे युवक ने मदद की लगायी गुहार ।

दस वर्षो से विक्लाग की जिदगी जी रहे युवक ने मदद की लगायी गुहार ।

कहा सरकार से भी नही मिली कोई मदद पिता वृद्ध होने के कारण विकलाग का नही हो सका इलाज   ।

 

कैराना__  गरीबी ने युवक को मदद मागने पर किया मजबूर । दस वर्ष पूर्व मजदूरी करते समय रीड की हडडी मे चोट लगने के कारण हुआ था विकलागं।
कस्बा कैराना के मोहल्ला अफगनान निवासी 24 वर्षीय मोसीन ने बताया कि वह गरीबी के कारण कम उम्र मे ही मजदूरी करने लगा था जब वह मात्र 14 वर्ष का था तब व मजदूरी करके अपना व अपने परिवार का पालन पोषण करने मे लग गया था । जो उम्र पढने लिखने व मोज मस्ती की होती है उस उम्र मे गरीबी के चलते वह मजदूरी पर मजबूर था किसी के सामने हाथ फैलाना मोसीन को अच्छा नही लगा वह महनत मजदूरी करने लगा लेकिन समय ने ऐसा करवट बदला कि मजदूरी करते समय ही मोसीन ऊपर से गिर गया गिरने के कारण मोसीन की रीड की हडडी मे फैक्चर आ गया जिसका इलाज कराने के लिऐ वृद्ध पिता मोहम्द उमर 65 वर्षीय ने काफी महनत कर अपने पुत्र का इलाज कराने का प्रयास किया लेकिन गरीबी कमजोरी के कारण मोटी रकम जुटाना मुशकिल हो गया ओर मोसीन की रीड की हडडी मे चोट लगने से उसके दोनो पैरो ने काम करना बद कर दिया व विक्लाग होकर चारपाई पर ही पड गया जैसे जैसे समय बढता गया पिता का बुढापा बढता गया ओर मोसीन विक्लाग हालत मे ही दाने दाने को मजबूर हो गया जिस उम्र मे पिता की सेवा की जिम्मेदारी ऐक पुत्र की होती है उस उम्र मे लाचार बेबस मोसीन खुद ही चोटिल होकर चारपाई पर गिर गया । लगभग दस साल के इस सफर मे मोसीन आज इस मुकाम पर है कि वह अपने बुढे पिता के साथ अपना व अपने पिता का पेट भरने पर मजबूर है ओर न ही इलाज कराने के लिऐ मोसीन के पास कोई पैसा है मोसीन ने कहा कि मेने बहुत प्रयास किया कि कोई सरकार की ओर से पैशन जैसी सुविधा मिल जाये लेकिन जब वह किसी को कोई सरकारी सुविधा मागने की बात करता है तो मोसीन कहता है कि वो ही उस से मोटी रकम सरकार से सुविधा दिलाने के नाम पर मागता है जो उसके पास नही है । गरीबी से तग आकर विक्लागं मोसीन ने समाचार पत्र के माध्यम से सामाजिक संस्थाओ व समाजसेवियो व सरकार से व उच्चाधिकारियो से अपना व अपने पिता का पेट भरने व अपना इलाज कराने को लेकर मदद की गुहार लगायी है मोसीन ने बताया कि वह मोहताज हो गया जिस कारण मदद मागने को मजबूर है । क्या कोई इस ओर देकर मोसीन की मदद कर पायेगा यह तो समय ही तय कर सकता है । लेकिन इसांनियत यही बंया करती है कि ऐसे लोगो की मदद करना सब का फर्ज बनता है समाचार पत्र के माध्यम से अपनी बात सरकार व आलाधिकारियो तक पहुचाने के लिऐ मोसीन ने समाचार पत्रो का सहारा लिया है मोसीन ने बताया कि 9045288845 उसका निजी मोबाइल नम्बर है जो कोई मदद करना चाहता है वह स्वय आकर देख सकता है ओर मदद कर सकता है

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button




जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close

Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275